आप के निगम पार्षदों ने किया सफाई कर्मचारियों की मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन

नई दिल्ली, 31 जुलाई (सक्षम भारत)।

निगम मुख्यालय सिविक सेंटर में आज आम आदमी पार्टी के निगम पार्षदों तथा उनके कार्यकत्ताओं ने नेता विपक्ष सुरजीत सिंह पवार के नेतृत्व में सफाई कर्मचारियों की मांगों को लेकर धरना प्रदर्शन किया। इस अवसर पर पवार व अन्य पार्षदों ने बोलते हुए कहा कि पिछले 20 वर्षों से सफाई कर्मचारी अपने नियमित होने का इंतजार कर रहे हैं। सफाई कर्मचारियों के द्वारा बार-बार हड़ताल पर जाना पड़ता है और उन्हें झूठे वायदे करके उनकी हड़ताल खुलवा ली जाती है। उन्होंने कहा कि मार्च-अप्रैल 2018 में 20 दिनों तक चली हड़ताल को भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद मनोज तिवारी ने तत्कलीन महापौर तथा अध्यक्षा स्थायी समिति की उपस्थिति में जूस पिलाकर हड़ताल तुड़वाई और सफाई कर्मचारियों को नियमित करने का वायदा किया। परन्तु आज लगभग 15 महीने का समय बीत जाने के बावजूद भी उन्हें नियमित नहीं किया गया।

नेता विपक्ष ने कहा कि उन्होंने दिनांक 25/07/2019 को हुई सदन की बैठक में सफाई कर्मचारियों को नियमित करने के अलावा वर्ष 1996-1998 के लैफ्ट आउट सफाई कर्मचारियों के नियमितिकरण, सफाई कर्मचारियों के एमएसीपी/एसीपी/नान मैट्रिक के बकाया एरियर राशि का भुगतान एवं सफाई कर्मचारियों को कैशलैस चिकित्सा सुविधा प्रदान करने की भी मांग की थी। परन्तु इस विषय पर सत्तापक्ष भाजपा तथा कांग्रेस दल समाधान खोजने की चेष्टा करने की बजाये इन विषयों को दिल्ली सरकार के पाले में फैंकते नजर आये जबकि दिल्ली में साफ-सफाई का कार्य निगम की जिम्मेदारी है तथा इससे जुड़ें सभी मुद्दों का समाधान सत्तापक्ष द्वारा निगम स्तर पर करना चाहिये ना कि दिल्ली सरकार पर दोष मढ़ने और समस्याओं से पल्ला झाड़ने की कार्यवाही की जानी चाहिये।

धरने के उपरान्त सुरजीत सिंह पवार के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी के निगम पार्षदों ने एक ज्ञापन महापौर अवतार सिंह को सौंपा जिसमें उन्होंने वर्ष 2017 तक नियुक्त सभी एवजीदार एवं दैनिक वेतनभोगी सफाई कर्मचारियों तथा अन्य विभागों में कार्यरत् सभी दैनिक वेतनभोगी चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के नियमितिकरण तथा मलेरिया विभाग के डीबीसी कर्मचारियों को भी नियमित करने तथा तीन दिनों के भीतर एक ठोस योजना बनाने की मांग की। उन्होंने अपने ज्ञापन में महापौर को चेतावनी दी कि यदि ठोस कार्रवाई नहीं की गई तो वे निगम की आगामी सदन की बैठकों का विरोध करेंगे। आज स्थायी समिति की बैठक में भी सफाई कर्मचारियों को नियमित करने तथा उनकी अन्य मांगों को माने जाने का मुद्दा छाया रहा। इस बैठक में आम आदमी पार्टी के सदस्य रविन्द्र भारद्धाज ने कर्मचारियों की मांगों को जोर-शोर से उठाया और सत्तापक्ष भा॰ज॰पा॰ को और निगम प्रशासन को सवालों के कटघरे में खड़ा किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *