कैबिनेट सचिव ने हिमाचल, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड, दिल्ली में बाढ की स्थिति की समीक्षा की

नई दिल्ली, 20 अगस्त (सक्षम भारत)। कैबिनेट सचिव पी के सिन्हा ने मंगलवार को शीर्ष अधिकारियों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की जिसमें हिमाचल, पंजाब, हरियाणा, उत्तराखंड और दिल्ली में बाढ की स्थिति की समीक्षा की गई। आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया है कि नई दिल्ली में राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति (एनसीएमसी) की बैठक में इस विषय पर चर्चा की गई। कैबिनेट सचिव ने बाढ़ की स्थिति को देखते हुए मौजूदा हालत, तैयारी, बचाव और राहत गतिविधियों का जायजा लिया और संकट का मुकाबला करने के लिए राज्य सरकारों की जरूरतों के अनुसार तुरंत सहायता पहुंचाने का निर्देश दिया। गौरतलब है कि अब तक इन राज्यों में राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) की 28 टीमें बुलाई गई हैं। इसके अलावा सेना और वायु सेना की सहायता भी ली जा रही है। आपातकालीन स्थिति से निपटने के लिए अतिरिक्त टीमें तैयार रखी गई हैं। मौसम विभाग ने कहा है कि पिछले कुछ दिनों से इन राज्यों में भारी वर्षा हो रही है और आने वाले दिनों में इसमें कमी आने की संभावना है। प्रभावित राज्यों को राज्य आपदा मोचन निधि से उपलब्ध आवश्यक वित्तीय सहायता देने के आदेश भी जारी किए गए हैं। बैठक में गृह मंत्रालय, रक्षा मंत्रालय, एनडीआरएफ, एनडीएमए और केन्द्रीय जल आयोग के वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे। राज्य सरकारों के प्रमुख सचिव और अन्य आला अधिकारियों ने वीडियो कांफ्रेंस के जरिए बैठक में हिस्सा लिया। गौरतलब है कि उत्तरी राज्यों में भारी वर्षा के कारण कम से कम 38 लोगों की मौत हो चुकी है और उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश में अनेक स्थानों पर भूस्खलन की घटनाएं तथा पंजाब एवं हरियाणा में बाढ़ की स्थिति का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली में यमुना नदी का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *