आरक्षण कभी खत्म नहीं किया जा सकता: आठवले

नई दिल्ली, 20 अगस्त (सक्षम भारत)। आरक्षण पर चर्चा से जुड़ी आरएसएस प्रमुख मोहन भावगत की कथित टिप्पणी की पृष्ठभूमि में रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (ए) के अध्यक्ष एवं केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास आठवले ने कहा कि इस देश में आरक्षण कभी खत्म नहीं किया जा सकता है। आठवले ने एक बयान में कहा, केंद्र की राजग सरकार दलित एवं ओबीसी,एवं गरीब सवर्णों के आरक्षण के पक्ष में है और आरक्षण को कभी भी हटाया नहीं जा सकता है। उन्होंने कहा कि डॉक्टर भीमराव अंबेडकर द्वारा बनाये गये संविधान को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी धर्म ग्रंथ के रूप में मानते हैं और इस सरकार में आरक्षण से छेड़छाड़ नहीं हो सकती। आठवले ने आरोप लगाया कि कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी राजनीतिक दल इस मुद्दे को आम जनमानस के बीच में गलत ढंग से प्रस्तुत कर राजनीति करने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में आरक्षण की समीक्षा करने की कोई जरूरत नहीं है और कई बार इस बात को देश के प्रधानमंत्री मोदी पहले भी कह चुके हैं। गौरतलब है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को कथित तौर पर कहा था कि जो आरक्षण के पक्ष में हैं और जो इसके खिलाफ हैं उन लोगों के बीच इस पर सौहार्दपूर्ण माहौल में बातचीत होनी चाहिए। कांग्रेस के हमले और विवाद खड़ा होने के बाद आरएसएस के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार ने कहा कि सर संघचालक मोहन भागवत के दिल्ली में एक कार्यक्रम में दिए गए भाषण के एक भाग पर अनावश्यक विवाद खड़ा करने का प्रयास किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *