टाटा पाॅवर डीडीएल दिल्ली के जिला कार्यालयों में काॅरोना संक्रमण से बचाव के नियमों की उड़ाई जा रही है ध्ज्जियां

प्रशासन की सख्ती का नहीं दिख रहा है कोई भी असर

-: सक्षम भारत :-
नई दिल्ली । ;कार्यालय संवाददाताद्ध टाटा पाॅवर डीडीएल दिल्ली के जिला कार्यालयों में कारोना से बचाव के नियमों की अवहेलना हो रही है। प्रशासन की सख्ती का असर नहीं दिख रहा है। कार्यालय में अध्किारियों से लेकर कर्मचारियों तक बाहर शारीरिक दूरी का पालन सुनिश्चित हो इसके लिए कहीं भी सपफेद घेरे नजर नहीं आते है। कार्यालयों में उपभोक्ताओं के लिए कदम रखने तक की जगह नही है।
अध्किारी/कर्मचारी व कार्यालय में आने-जाने वाले लोग ठीक से मास्क नहीं लगा रहे है। कार्यालयों में पहले प्रत्येक ग्राहक को प्रवेश करने पर उनके हाथों को सैनिटाइज कराया जाता था, लेकिन अब कार्यालयों से सैनिटाइजर नदारद हो गए हैं। बिना मास्क के कार्यालय में प्रवेश करने वाले उपभोक्ताओं को मास्क उपलब्ध् कराने की भी टी.पी.डीडीएल ने योजना बनाई थी, पर जमीनी स्तर पर ऐसी कोई व्यवस्था देखने को नही मिल रही है।
ज्ञात हो पिछले वर्ष कोरोना संक्रमण के मामले अचानक बढ़ गए थे। न सिपर्फ संक्रमण दर बल्कि संक्रमण के कारण मृत्युदर भी बढ़ गई थी। ऐसे में प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग पिफलहाल टी.पी.डीडीएल के जिला कार्यालयों की स्थिति देखकर कापफी चिंतित है। हालांकि प्रशासन अपने स्तर पर लोगो को जागरूक करने की दिशा में प्रयासरत है और इंपफोर्समेंट टीम को नियम का उल्लंघन करने वालों के खिलापफ चालान काटने के सख्त निर्देश दे दिए गए है, लेकिन अभी प्रशासन की सख्ती का कोई सकारात्मक परिणाम देखने को नही मिला रहा है। भले ही टीकाकरण अभियान जारी है, पर कोरोना संक्रमण के मामले एक बार पिफर तेजी से बढ़ने लगें है। जिला कार्यालयों में काम करने वाले अध्किारियों की लापारवाही के कारण कोरोना संक्रमण पफैलने का डर सता रहा है। वहीं, उपभोक्ताओं का कहना है कि कार्यालयों में भीड़ होने की वजह से वे चाहकर भी शारीरिक दूरी का पालन नहीं कर पा रहे है। कार्यालयों में कर्मचारियों व अध्किारियों के द्वारा मास्क का सही तरीके से इस्तेमाल ना करने कि बात करें तो यहां भी नियमों की जमकर धज्जियां उड़ाई जा रही है। कार्यालयों की हर टेबल पर कर्मचारी व अध्किारी ऐसे बेठे है कि काॅरोना चला गया हो जब भी किसी उपभोक्ता से बात करते है तो मास्क उनका नाक, मुंह की जगह नीचें ठोडी पर होता है और ऐसे व्यहवार करते है कि जैसे बाॅलीवुड के स्टाॅर हो और कार्यालयों में इतनी भीड़ जमा करके रखते है कि जैसे स्टाॅर अपने पफेन को आॅटो ग्रापफ के लिए, टाटा पाॅवर डीडीएल दिल्ली के जिला कार्यालयों में अध्किांश अध्किारी व कर्मचारी बिना मास्क के आसानी से नजर आ जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *