मनोरंजन

नेपोटिजम पर बोलीं हॉलिवुड ऐक्ट्रेस एलिजाबेथ ओल्सेन-मन में एक डर पैदा करता है

लॉस एंजेल्स , 20 जनवरी (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। बॉलिवुड में सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से नेपोटिजम का मुद्दा काफी छाया रहा है। केवल बॉलिवुड ही नहीं बल्कि हॉलिवुड में भी नेपोटिजम की चर्चा काफी होती है। इस बारे में हाल में ऐक्ट्रेस एलिजाबेथ ओल्सेन ने अपने अनुभव शेयर किए हैं। उन्होंने कहा कि एक समय पर उन्हें भी नेपोटिजम का मुद्दा काफी परेशान करता था।

हॉलिवुड स्टार एलिजाबेथ ओल्सेन का कहना है कि उन्होंने एक बार अपना सरनेम बदलने और अपने परिवार की सफलता से दूरी बनाने के बारे में सोचा था क्योंकि सुर्खियों में हर पल रहना उन्हें परेशान करता था। ओल्सेन ने कहा, ‘वह पागलपन था। ऐसा भी वक्त रहा है, जब मेरी बहनें हमेशा स्पॉटलाइट होती थीं और मैं उनके साथ कार में होती थी। यह चीजें वास्तव में मुझे निराश कर देती थीं। इससे मुझे नेविगेट करने में मदद मिली कि मैं अपने करियर को कैसे अपनाना चाहती हूं।’

बता दें कि उनकी बड़ी बहनें मैरी-केट ओल्सेन और एशले ओल्सेन हैं। उन्होंने आगे बात करते हुए कहा, ‘मुझे हमेशा मेरे चारों ओर मौजूद लोगों को यह साबित करने की जरूरत होती थी कि मैं वास्तव में कड़ी मेहनत कर रही हूं।’ वहीं एलिजाबेथ ओल्सेन ने नेपोटिज से जुड़े डर के बारे में बात करते हुए कहा, ‘नेपोटिजम को लेकर यह डर रहता है कि लोगों को लगता है आप काम नहीं करते हैं या काम के लायक नहीं हैं। जब मैं छोटी बच्ची थी, तो सोचती थी कि अगर मैं एक ऐक्ट्रेस बनूंगी तो मैं एलिजाबेथ चेस बनूंगी, जो कि मेरा मिडिल नाम है। फिर एक बार जब मैंने काम करना शुरू किया, तो मुझे लगा कि मैं अपने परिवार से प्यार करती हूं और मुझे अपना नाम पसंद है। मुझे इस पर शर्म क्यों आएगी?’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ykhij,lhj,lhi