नई दिल्ली न्यूज़

कर्जा चुकाने के लिए मां ने बेटी को बेचा

नई दिल्ली, 15 सितंबर (सक्षम भारत)। देश की राजधानी दिल्ली में एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आई है। मामला बाहरी दिल्ली के बवाना इलाके का है, जिसके एक महिला ने कर्जा चुकाने के लिए अपनी 15 साल की बेटी एक 1 लाख रुपए में मानव तस्करों के हाथों बेच दिया। आरोप है कि महिला पहले भी अपने एक साल के बेटे को बाल तस्कारों के हाथों बेच चुकी है। फिलहाल, लड़की पीडि़ता को एक आश्रय गृह में भेज दिया गया है और दिल्ली पुलिस से मामले में आईपीसी की धारा 370 के तहत एफआईआर दर्ज की है। बता दें कि 8 सितंबर को निशा (नाम परिवर्तित) की मां ने उससे कहा कि वे बदरपुर में उसकी बहन के यहां जा रहे हैं, लेकिन वह उसे निजामुद्दीन के एक होटल में ले गई। होटल में सौदा करने के बाद निशा की मां ने उससे कहा कि उसे कहीं जाना है, शाहिद नाम का एक आदमी उसे घर ले जाएगा। मगर शाहिद उसे उसके घर ले जाने के बजाय, उसे बवाना गांव की ईश्वर कॉलोनी में अपने घर ले गया। शाहिद के घर की लड़कियों ने निशा से कहा कि वह शादी का जोड़ा पहने और तैयार हो जाए। पूछने पर उन्होंने उसे बताया कि उसकी मां ने उसे 1 लाख रुपए में बेच दिया है। मगर एक दिन के भीतर निशा को एक मौका मिला और किसी तरह भागने में कामयाब रही। उस समय उसकी जेब में 10 रुपए थे। उसने एक ऑटो लिया और बवाना जेजे कॉलोनी स्थित अपने घर वापस पहुंच गई। उसने अपने पड़ोसियों से मदद मांगी, जिन्होंने दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की 181 महिला हेल्पलाइन पर फोन किया। आयोग की टीम तुरंत मौके पर पहुंची और लड़की को स्थानीय पुलिस स्टेशन ले गई। निशा ने आयोग को बताया कि उसकी मां अब्दुल नाम के व्यक्ति के संपर्क में थी, जिसका बाल तस्करी का पुराना रिकॉर्ड था। उसने उसकी मां को पेशकश की कि अगर वह निशा की शादी हरियाणा में एक 62 साल के आदमी से कर देगी तो वह उसे 1 लाख रुपए देगा। हालांकि, जब निशा को इस बारे में पता चला, तो उसने इस बात का विरोध किया और अपनी मां को चेतावनी दी कि अगर वह उसे शादी के लिए मजबूर करने की कोशिश करती है तो वह उसके खिलाफ शिकायत दर्ज करेगी। पीडि़ता ने कभी अपने पिता को नहीं देखा और वह अपनी मां, सौतेले पिता और 4 भाई-बहनों के साथ बवाना जेजे कॉलोनी में रहती थी। उसने बताया कि उसकी मां ने पिछले महीने उसके 1 साल के भाई को भी एक तस्कर को बेच दिया था। लड़की ने बताया कि उसकी मां कर्ज में डूबी हुई थी और उसने कर्ज लौटने के लिए अपना बच्चा बेच दिया था। पुलिस ने आईपीसी की धारा 370्र के तहत मामले में एफआईआर दर्ज की है। पीडि़ता को एक आश्रय गृह में भेज दिया गया है और पुलिस अभी तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं कर पाई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ykhij,lhj,lhi