किसान जैविक खेती व फसलों का विविधिकरण को अपनाएं एवं खेती में मशीनीकरण को बढावा देंः डा. बल्यान

कैथल, 22 अगस्त (ऐजेंसी सक्षम भारत)। हरियाणा किसान आयोग के सदस्य डॉ. आर.एस. बाल्यान ने जिला के किसानों का आह्वान किया कि वे जैविक खेती व फसलों का विविधिकरण को अपनाएं एवं खेती में मशीनीकरण को बढावा दें ताकि खेती की लागत को कम करके आमदनी को बढाया जा सके। किसान भूमि, पर्यावरण एवं जल संरक्षण हेतू भी अपना पूर्ण सहयोग दें। किसान फसलों के अवशेषों को आग न लगाकर इन्हें भूमि में मिलाएं, जिससे भूमि की उर्वरा शक्ति बढेगी। उन्होंने किसानों को भूमि व जल का संरक्षण करने, जैविक खेती एवं फसलों का विविधिकरण अपनाने की शपथ भी दिलवाई। डॉ. आर.एस. बाल्यान स्थानीय हनुमान वाटिका स्थित हॉल में कृषि एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा कृषि प्रोद्यौगिकी प्रबंधन अभिकरण (आतमा) के तहत आयोजित एक दिवसीय जिला स्तरीय किसान मेला में उपस्थित किसानों को बतौर मुख्यातिथि संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कृषि क्षेत्र में उत्कृष्टड्ढ कार्य करने वाले प्रगतिशील किसानों को सम्मानित भी किया। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, हरियाण के मुख्यमंत्री मनोहर लाल तथा प्रदेश के कृषि मंत्री ओम प्रकाश धनखड़ किसानों की आय बढाने के लिए पर्यासरत हैं। उन्होंने कहा कि किसान वैज्ञानिकों की सलाह के अनुरूप खेती करें तथा खेती में मशीनों के प्रयोग को बढावा दें ताकि मजदूरी की लागत कम होने तथा उत्पादन बढने से इनकी आमदनी में वृद्घि हो। कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के उप निदेशक डॉ. पवन शर्मा ने मुख्यातिथि तथा किसानों का स्वागत किया। मौके पर प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के फार्म भी भरवाए गए। उन्होंने डॉ. आर.एस. बाल्यान को स्मृति चिन्ह भेंट किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *