भगवान बदरी विशाल के कपाट मंगलवार तड़के खुलेंगे, तैयारियां अंतिम चरण में

जोशीमठ, 17 मई (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। भगवान बदरी विशाल के कपाट मंगलवार प्रातः 4ः15 बजे खुलेंगे। बदरीनाथ धाम में इसकी तैयारियां आखिरी चरण में हैं। भगवान नारायण के सिंह द्वार को फूलों से सजाया जा रहा है। ऋषिकेश से नौ क्विंटल फूल मंगाए गए हैं। श्री हरिनारायण के धाम के मुख्य पुजारी रावल, शंकराचार्य की गद्दी, उद्धव और भगवान कुबेर की डोलियां, गाडू घड़ा तेल कलश के साथ धाम पहुंच चुके हैं। कोरोना की गाइडलाइन के तहत जिला प्रशासन, देवस्थानम बोर्ड और नगर पंचायत ने पूरे क्षेत्र को सेनेटाइज किया है। मेटल की रेलिंग और कुर्सियों को ढक दिया गया है। बदरीनाथ मंदिर के सिंह द्वार के अलावा पूरे मंदिर परिसर और आसपास के क्षेत्र को फूलों से सजाया जा रहा है। पुष्ष सेवा समिति त्रिवेणी घाट ऋषिकेश के भक्तों ने धाम को सजाने के लिए नौ क्विंटल फूल भेजे हैं। श्री बदरीनाथ धाम के मुख्य पुजारी रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी अपने पहले प्रवास येाग बदरी मंदिर पांडुकेश्वर सेशंकराचार्य की पवित्र गद्दी, उद्धव और भगवान कुबेर की डोलियां, गाडू घड़ा तेल कलश के साथ धाम पहुंच चुके हैं।बदरी विशाल के उद्घोष के साथ स्थानीय लोगों और कर्मचारियों ने आगवानी की। कुबेर की उत्सव डोली सीधे बामणी गांव और भगवान उद्धव की डोली रावल निवास मे विराजमान रहेगी। दोनों डोली कपाट खुलने पर मंदिर परिक्रमा परिसर मे पंहुचेंगी। मुख्य पुजारीरावल के अलावा नायब रावल अमरनाथ नंबूदरी, धर्माधिकारी आचार्य भुवन चंन्द्र उनियाल, अपर धर्माधिकारी द्वय आचार्य सत्य प्रसाद चमोला व राधाकृष्ण थपलियाल, वेदपाठी रविन्द्र भट्ट, दफेदार कृपाल सनवाल, उप मुख्य कार्याधिकारी/प्रभारी अधिकारी सुनील तिवारी, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी गिरीश चाौहान सहित हक हकूकधारी समाज के बारीदार भी धाम पहुंच चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *