अमेरिका: अभियोजकों ने तिहरे हत्याकांड में सजा काट रहे मिसैारी के व्यक्ति को रिहा करने की मांग की

कंसास सिटी (अमेरिका), 11 मई (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। अमेरिका के कंसास सिटी में अभियोजकों ने गलत साक्ष्यों के आधार पर तिहरे हत्या के मामले में 40 साल से सजा काट रहे मिसौरी के व्यक्ति को रिहा करने का अनुरोध किया है। अभियोजकों का कहना है कि आरोपी ने यह अपराध नहीं किया है। इस संबंध में सोमवार को जारी पत्र में बताया गया।

कंसास सिटी स्टार की खबर के अनुसार, केविन स्टिकलैंड (62) के वकील द्वारा मिसौरी उच्चतम न्यायालय में उसे तत्काल रिहा करने से संबंधित याचिका दाखिल करने के बाद केविन की रिहाई के लिए भरपूर समर्थन मिल रहा है।

पत्र में जैकसन काउंटी की अभियोजक जीन पीटर्स बेकर और उनके उपप्रमुख डैन नेलसन ने कहा कि किशोर स्टिकलैंड को आरोपी साबित करने के लिए जो साक्ष्य इस्तेमाल किये गये थे वे अब भी निराधार हैं।

वेस्टर्न डिस्ट्रिक्ट ऑफ मिसौरी के संघीय अभियोजक, जैकसन काउंटी के पीठासीन न्यायाधीश, कंसास सिटी के मेयर क्विंटोन लुकास और चार दशक पहले स्टिकलैंड को सजा सुनाने वाली टीम में शामिल सदस्य भी अब मानते हैं कि उसे बरी कर देना चाहिए।

बेकर ने पत्र में कहा, ‘‘यह एक गंभीर त्रुटि है जिसे निश्चित तौर पर ठीक करना होगा।’’

कंसास सिटी के स्टिकलैंड उस वक्त 18 साल के थे जब उन्हें गिरफ्तार किया गया था।

स्टार ने दशकों की खोज पड़ताल के बाद सितंबर में खबर प्रकाशित की थी, जिसके अनुसार हत्या के आरोपी जिन दो लागों ने अपना गुनाह कबूला उन्होंने कहा कि 25 अप्रैल 1978 को हुई हत्या के दौरान स्टिकलैंड और दो अन्य साथी उनके साथ नहीं थे।

घटना की एकमात्र गवाह सिंथिया डगलस ने खुद को गोली मार ली थी जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई थीं। हालांकि सिंथिया ने बाद में बताया था कि अधिकारियों ने स्टिकलैंड को पहचानने के लिए उन पर दबाव डाला था।

घटना में कुछ हमलावर लैरी इनग्राम (21) के घर में घुस आये थे। इसी दौरान लैरी इनग्राम और डगलास के ब्वॉयफ्रेंड जॉन वाकर (20) और दोस्त शेरी ब्लैक (22) की गोली लगने से मौत हो गयी। घटना में डगलास घायल हो गयी थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *