कॉरपोरेट कर की दर बढ़ने से कंपनियां अमेरिका नहीं छोड़ेंगी: बाइडन

वाशिंगटन, 06 अप्रैल (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने विश्वास जताया है कि कॉरपोरेट कर की दरों में बढ़ोतरी के प्रस्ताव से कंपनियां देश से बाहर नहीं जाएंगी। व्हाइस हाउस में सोमवार को संवाददाताओं से बातचीत में बाइडन ने यह बात कही।

बाइडन ने कहा कि उनके कॉरपोरेट कर की दरें बढ़ाने के प्रस्ताव से कंपनियां अमेरिका छोड़कर नहीं जाएंगी।

उन्होंने कहा, ‘‘कर की दर 36 प्रतिशत थी। अब यह घटकर 21 प्रतिशत रह गई है। अब हम 28 प्रतिशत कर की बात कर रहे हैं। सभी का मानना है कि कर यह दर सबके लिए उपयुक्त है।

एक सवाल के जवाब में बाइडन ने कहा, ‘‘फॉर्च्यून 500 की 51 या 52 कंपनियों ने तीन साल में कर के रूप में एक पैसा नहीं दिया है। आप इस चीज को समझें।’’

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि वह परिस्थितियों में बदलाव का पूरा प्रयास करेंगे जिससे अमेरिका शेष दुनिया से प्रतिस्पर्धा कर सकेगा।

बाइडन ने कहा, ‘‘दुनियाभर में सभी देश बुनियादी ढांचे में अरबों-अरबों डॉलर का निवेश कर रहे हैं। हम यही काम यहां करेंगे।’’

इस बीच, अमेरिका वित्त मंत्री जैनेट येलेन ने कहा है कि कर प्रतिस्पर्धा के दबाव को कम करने और कॉरपोरेट कर में कमी से बचने के लिए अन्य देशों के साथ मिलकर काम करने की जरूरत है।

येलेन ने कहा, ‘‘हम जी20 के देशों के साथ काम कर रहे हैं, जिससे वैश्विक स्तर पर न्यूनतम कॉरपोरेट कर की दर पर सहमति बनाई जा सके और इस ‘दौड़’ को रोका जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *