विधानसभा चुनावों को हवाला देकर तृणमूल कांग्रेस ने संसद सत्र स्थगित करने की मांग की

नयी दिल्ली, 08 मार्च (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। तृणमूल कांग्रेस ने चार राज्यों और केंद्र शासित पुडुचेरी में जारी विधानसभा चुनावों की प्रक्रिया का हवाला देते हुए संसद के बजट सत्र के दूसरे चरण को स्थगित करने की सोमवार को मांग की।

राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू को लिखे एक पत्र में तृणमूल कांग्रेस के सदस्य और प्रवक्ता डेरेक ओ’ब्रायन ने कहा कि चुनावों के कारण उनकी पार्टी के सदस्य संसद सत्र में उपस्थित नहीं रह सकेंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘तृणमूल कांग्रेस का नेता (राज्यसभा) होने के नाते मैं आपको यह पत्र लिख रहा हूं। पांच राज्यों में चुनावों की घोषणा के कारण मैं आपसे चालू संसद सत्र को स्थगित करने पर विचार करने का आग्रह करता हूं।’’

उन्होंने पत्र में लिखा, ‘‘निर्वाचन आयोग ने 26 फरवरी को पश्चिम बंगाल सहित चार राज्यों व पुडुचेरी में चुनाव की घोषणा की है। राज्य में चुनाव की व्यापक तैयारियों के कारण ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों को आठ मार्च से आरंभ हो रहे बजट सत्र के दूसरे चरण में शामिल होने पर परेशानियां होंगी।

तृणमूल कांग्रेस के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने इसी विषय पर एक पत्र लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को लिखा है और चुनावों के कारण सत्र स्थगित करने का आग्रह किया है।

ओ’ब्रायन ने आठ मार्च को लिखे पत्र में यह हवाला भी दिया है कि दो ऐसे मौके आए जब चुनावों के कारण पूर्व में संसद सत्र को स्थगित कर दिया गया था।

उन्होंने उदाहरण देते हुए बताया कि संसद के 222वें सत्र के दौरान असम, केरल, पुडुचेरी, तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों के कारण सदन की कार्यवाही 25 मार्च 2011 को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया था।

उन्होंने दूसरा उदाहरण संसद के 214वें सत्र का दिया जब चुनावों के कारण सत्र स्थगित कर दिया गया था।

उन्होंने अपने पत्र में लिखा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि आप हमारे इस प्रस्ताव पर विचार करेंगे।’’

बजट सत्र का दूसरा चरण आठ मार्च से आरंभ हो गया। हालांकि इसके जल्द स्थगित होने की संभावना जताई जा रही है।

निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक यह सत्र आठ अप्रैल तक चलना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *