सुशांत ड्रग्स केसः एनसीबी ने तैयार की 30,000 पन्नों की चार्जशीट, रिया समेत 33 आरोपी नामजद

मुंबई, 05 मार्च (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। सुशांत सिंह राजपूत मौत के मामले में इंसाफ की बाट जोह रहे परिवार और फैन्स के लिए एक अच्छी खबर है। ऐक्टर की मौत के करीब 9 महीने बाद नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो इस मामले में शुक्रवार को चार्जशीट दाखलि करने वाला है। एनसीबी, ऐक्टर की मौत मामले में ड्रग्स केस की जांच कर रहा है। एनसीबी के मुंबई जोनल हेड समीर वानखेड़े खुद इस चार्जशीट को स्पेशल एनडीपीएस कोर्ट में दाखलि करेंगे। बताया जाता है कि यह चार्जशीट 30,000 पन्नों का है।

बीते साल 14 जून 2020 को सुशांत की लाश उनके बांद्रा स्थति फ्लैट के बेडरूम में मिली थी। मामले में ड्रग्स चैट के सामने आने बाद एनसीबी ने इसकी जांच शुरू की थी। ड्रग पेडलर्स से लेकर सुशांत के मैनेजर्स तक से पूछताछ के बाद एनसीबी ने सुशांत सिंह राजपूत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार किया था। करीब एक महीने जेल में रहने के बाद रिया चक्रवर्ती जमानत पर रिहा हैं। एनसीबी की चार्जशीट में रिया चक्रवर्ती के अलावा उनके भाई शौविक चक्रवर्ती का भी नाम है।

अभी तक जो जानकारी सामने आई है, उसके मुताबिक एनसीबी ने अपनी चार्जशीट में 33 लोगों को नामजद किया है। रिया चक्रवर्ती और शौविक के अलावा में इसमें कई ड्रग पेडलर्स के नाम हैं। इनमें से अधकितर ड्रग पेडलर्स को एनसीबी ने जांच के दौरान गिरफ्तार किया था।

जांच के दौरान ड्रग्स के तार बॉलिवुड के कई बड़ी हस्तियों से जुड़े हुए पाए गए। इन सिलेब्रिटीज के नाम ड्रग पेडलर्स से पूछताछ में सामने आए। एनसीबी ने इसके बाद दीपिका पादुकोण से लेकर सारा अली खान और रकुल प्रीत सिंह से लेकर मधु मंटेना तक से मामले में पूछताछ की। ड्रग्स केस में एनसीबी ने ऐक्टर्स के मैनेजर्स से भी पूछताछ की। इन्हीं पूछताछ और शुरुआती सबूतों के आधार पर रिया और शौविक को गिरफ्तार किया गया था। दोनों जमानत पर रिहा हैं।

रिया और शौविक पर आरोप हैं कि उन्होंने सुशांत को ड्रग्स सप्लाई किए। हालांकि, हाई कोर्ट में रिया को जमानत देते हुए कोर्ट ने यह भी माना कि एनसीबी के पास इस बात के कोई सबूत नहीं हैं कि रिया ने खुद ड्रग्स की खरीद-फरोख्त की या फिर खुद ड्रग्स लिए। रिया ने भी अपने बयान में यही कहा कि उन्होंने सुशांत के कहने पर ही उनके लिए ड्रग्स उपलब्ध करवाए थे। सुशांत ने ही इसके लिए पैसे दिए थे और पेडलर्स की जानकारी भी सुशांत ने ही दी थी। रिया के भाई शौविक और उनके हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा पेडलर्स से सीधे संपर्क में थे।

बीते साल अगस्त महीने में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने इस मामले में एफआईआर दर्ज की थी। सुशांत मामले में मनी लॉन्ड्रंिग की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को रिया और शौविक के फोन में ड्रग्स चैट मिले थे। ईडी ने यह जानकारी एनसीबी से साझा की थी, जिसके बाद ब्यूरो ने ड्रग्स केस की जांच शुरू की। इन ड्रग्स चैट में सुशांत की टैलेंट मैनेजर जया साहा से लेकर दीपेश सावंत और सैमुअल मिरांडा के नाम थे। एनसीबी ने जांच के दौरान रिया चक्रवर्ती, शौविक चक्रवर्ती, दीपेश सावंत और सैमुअल मिरांडा को ड्रग्स सप्लाई करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। 9 महीने के बाद मौजूदा वक्त में ये सभी जमानत पर रिहा हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *