भारतीय वित्तीय संस्थानों में सक्रिय मालवेयर पाया गया: कैस्परस्काई

नई दिल्ली, 24 सितंबर (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। भारत के कुछ वित्तीय संस्थानों और अनुसंधान केंद्रों में एक मालवेयर सक्रिय पाया गया है। यह मालवेयर इनकी प्रणालियों से न केवल सूचना चुरा सकता है बल्कि उसमें हेरफेर भी कर सकता है। साइबर सुरक्षा कंपनी कैस्परस्काई ने सोमवार को यह जानकारी दी। कंपनी के शोधकर्ताओं का मानना है कि यह गड़बड़ी वाला साफ्टवेयर साइबर जासूसी करने वाले समूह लाजारूस से जुड़ा है। कैस्परस्काई ने बयान में कहा कि कैस्परस्काई ग्लोबल रिसर्च एंड एनालिसिस की टीम ने पूर्व में एक अज्ञात जासूसी टूल खोजा है। इसे भारतीय वित्तीय संस्थानों और शोध केंद्रों में पाया गया है। वर्ष 2018 में कैस्परस्काई के शोधकर्ताओं ने एटीएमडीट्रक मालवेयर का पता लगाया था। यह मालवेयर भारतीय एटीएम से छेड़छाड़ कर सकता है और उपभोक्ता कार्ड के आंकड़े चुरा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *