दिल्ली में 22 रुपये किलो प्याज खरीदने के लिए उमड़े लोग, लगी लंबी-लंबी लाइनें

नई दिल्ली, 24 सितंबर (सक्षम भारत)। दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने सस्ती कीमत पर प्याज का इंतजाम कराने का वादा पूरा कर दिया है. सरकार की ओर से कई इलाकों में प्याज की बिक्री शुरू हो गई है. मंगलवार को मार्केट में 80 रुपये किलो बिक रहे प्याज को 22 रुपये किलो खरीदने के लिए लोगों की लंबी लाइन लग गई. सस्ते दाम पर प्याज मुहैया कराने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारी टीमें प्याज की जमाखोरी से निपटने के लिए लगी हुई हैं. दिल्ली में सस्ती कीमत पर प्याज देने का इंतजाम किया जा रहा है.

राजधानी के कई रिहायशी इलाकों में प्याज 60 से लेकर 80 रुपए प्रति किलो तक बिक रही है. इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बताया कि सरकार द्वारा प्याज की जमाखोरी से निपटने के लिए टीमें लगाई गई हैं. महंगे प्याज और जमाखोरी के सवाल पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, प्याज की होर्डिंग से निपटने में हमारी टीमें लगी हुई हैं. एक तरफ होर्डिंग नहीं होने दी जा रही है लेकिन पूरे देश मे प्याज के दाम बढ़ गए हैं. हम दिल्ली में सस्ते प्याज देने का इंतजाम कर रहे हैं.

दिल्ली सचिवालय में सोमवार को खाद्य एवं आपूर्ति विभाग की तमाम स्टेकहोल्डर्स के साथ बैठक भी हुई. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि जिस तरह से दो-तीन साल पहले हमने किया था, हम फिर से प्याज इकट्ठा कर रहे हैं और हमारी कोशिश रहेगी आगामी दिनों में 24 रुपये प्रति किलो के हिसाब से अपने एफपीएस और मोबाइल वैन्स के जरिए जनता तक प्याज सप्लाई करें.

पिछले कुछ दिनों में लोकल सब्जी मंडियों में प्याज की कीमत बढ़ने के बाद खाद्य व आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन भी अधिकारियों के साथ लगातार बैठकें कर रहे हैं. फूड व सिविल सप्लाईज विभाग के कमिश्नर, दिल्ली स्टेट सिविल सप्लाईज कॉरपोरेशन (डीएससीएससी) व एग्रो प्रड्यूस मार्केटिंग कमिटियों (एपीएमसी) के अफसरों के साथ बैठकें कर लोगों को सस्ते दर पर प्याज मुहैया करवाए जाने के बारे में चर्चा की जा रही है.

खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री इमरान हुसैन ने एम समाचार चैनल से बातचीत में दावा किया है कि उनका विभाग अलग-अलग टीमें बनाकर सब्जी मंडियों का औचक निरीक्षण भी कर रहे हैं. इमरान हुसैन के मुताबिक प्याज की जमाखोरी या कालाबाजारी की गड़बड़ी मिलने सख्त कार्रवाई भी की जाएगी. दिल्ली सरकार ने महाराष्ट्र में फसल खराब होने के बाद दिल्ली में प्याज के दाम बढ़ने को वजह बताया है.

बता दें कि प्याज कीमतों के मामले में लोगों के आंसू निकाल रहा है। आलम यह है कि यह सेब से भी ज्यादा महंगा बिक रहा है। मौजूदा समय में औसत दर्जे की सेब मंडी में थोक में 30 से 40 रुपये तक बिक रहा है। पिछले कुछ दिनों से आजादपुर मंडी में प्याज की आवक में कमी के कारण ऐसी स्थिति हुई है। इसके चलते थोक के साथ खुदरा बाजारों में भी प्याज की कीमत में तेजी देखी जा रही है। सोमवार को आजादपुर मंडी में प्याज थोक में प्रति किलो 25 से 45 रुपये तक बिका। जबकि खुदरा

बाजारों में इसकी कीमत प्रति किलो 60 से 70 रुपये तक रही। ऐसी स्थिति तब है, जब सोमवार को मंडी में थोक कीमत में प्रति किलो ढाई रुपये तक गिरावट दर्ज की गई। आजादपुर मंडी के प्याज के आढ़तियों की मानें तो दिवाली तक प्याज की कीमतों में तेजी बनी रह सकती है। ऐसा इसलिए है कि दिवाली के बाद मंडियों में प्याज की नई फसल की आवक शुरू हो जाएगी। इसके बाद कीमतें नीचे उतरने लगेंगी।

आजादपुर मंडी के आलू-प्याज मर्चेट एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेंद्र शर्मा ने बताया कि मंडी में रोजाना प्याज की औसत मांग 15 सौ टन रहती है। लेकिन, दक्षिण भारत के राज्यों सहित महाराष्ट्र में बारिश के कारण प्याज के फसल को नुकसान के चलते मंडी में मांग के अनुरूप आवक नहीं हो रही है। मंडी में इन राज्यों के अलावा मध्य प्रदेश व राजस्थान से प्याज आ रहा है। लेकिन, मध्य प्रदेश व राजस्थान से हो रही आवक से दक्षिण भारत व महाराष्ट्र की कमी की भरपाई संभव नहीं है। ऐसे में कीमतें नीचे नहीं उतर पा रही हैं।

उन्होंने बताया कि सोमवार को मंडी में करीब 145 गाड़ियां प्याज उपलब्ध रही। इनमें 60 गाड़ियों की नई आवक भी शामिल रही। इस उपलब्धता के कारण प्याज शनिवार के मुकाबले थोक में प्रति किलो अधिकतम 47.50 रुपये किलो से घटकर 45 रुपये तक बिका। उन्होंने बताया कि मंगलवार को भी कीमत में कमी रह सकती है।

हालांकि, यह कमी मंडी में रात तक बिक्री के बाद शेष बचे प्याज की मात्र पर निर्भर करेगी। मंडी में प्याज की थोक कीमत में बढ़ोतरी का असर खुदरा बाजारों पर भी पड़ रहा है। यह प्रतिकिलो अधिकतम 70 रुपये तक पहुंच चुका है। हालांकि, खुदरा बाजारों में कहीं कहीं यह 60 रुपये किलो तक भी मिल रहा है। खुदरा बाजार में बढ़ी कीमतों के कारण लोग हलकान हो रहे हैं। आजादपुर मंडी के फ्रूट व वेजिटेबल मर्चेट एसोसिएशन के अध्यक्ष मेठाराम कृपलानी भी मान रहे हैं कि इन दिनों सेब के मुकाबले प्याज में तेजी है। उन्होंने बताया कि अभी मंडी में सेब थोक में प्रति किलो 25 से 40 रुपये तक उपलब्ध है। इनमें कश्मीर के सेब तो 25 रुपये किलो से भी कम में मिल जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *