चीन व सोलोमन द्वीप के बीच राजनयिक संबंध स्थापित

बीजिंग, 22 सितंबर (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। चीनी स्टेट कौंसिलर व विदेश मंत्री वाग यी ने सोलोमन द्वीप के विदेश मंत्री जेरेमियाह मानेले के साथ पेइचिंग में 21 सितंबर को वार्ता की, और चीन लोक गणराज्य व सोलोमन द्वीप के बीच राजनयिक संबंध स्थापना की संयुक्त विज्ञप्ति पर हस्ताक्षर किए। दोनों पक्षों ने यह घोषणा की कि दोनों देशों की जनता के लाभ व इच्छा के अनुसार चीन व सोलोमन द्वीप ने इस विज्ञप्ति पर हस्ताक्षर करने से आपस में राजदूत स्तरीय राजनयिक संबंधों की स्थापना की है।

विज्ञप्ति में यह कहा गया है कि दोनों देशों की सरकारों ने आपस में प्रभुसत्ता व प्रादेशिक अखंडता का सम्मान करने, एक-दूसरे का हमला न करने, हस्तक्षेप न करने, समानता व आपसी लाभ और शांतिपूर्ण सहअस्तितव के नीति-नियम के आधार पर दोनों देशों के मैत्रीपूर्ण संबंधों का विकास करने पर सहमति प्राप्त की। सोलोमन द्वीप सरकार इस बात को स्वीकार करती है कि विश्व में केवल एक चीन है। चीन लोक गणराज्य की सरकार चीन का एकमात्र वैध सरकार ही है। थाईवान चीन का अविभाजित भाग है। सोलोमन द्वीप सरकार ने ठीक इसी दिन से थाईवान के साथ राजनयिक संबंध तोड़ दिए, और थाईवान के साथ कोई सरकारी संबंध न रखने और कोई सरकारी आदान-प्रदान न करने का वचन दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *