विजय दिवसः कांग्रेस ने सेना के शौर्य को सलाम व इंदिरा गांधी के नेतृत्व को याद किया

नई दिल्ली, 16 दिसंबर (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। कांग्रेस ने 50वें ‘विजय दिवस’ के अवसर पर बृहस्पतिवार को 1971 के युद्ध में पाकिस्तान के खिलाफ जीत हासिल करने के लिए भारतीय सेना के शौर्य को सलाम किया और तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के कुशल नेतृत्व को याद किया।

पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘‘1971 के युद्ध के शहीदों और योद्धाओं को याद करता हूं। भारत ने पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी जी के कुशल नेतृत्व में लोकतंत्र के विचार को बचाने के युद्ध में विजय हासिल की थी। जय हिंद।’’

कांग्रेस ने अपने ट्विटर हैंडल के माध्यम से कहा, ‘‘बहादुर भारतीय सेना शांति और समृद्धि की योद्धा है। भारतीय सेना के शौर्य और साहस ने शांति की स्थापना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। उसका उदाहरण बांग्लादेश को पाकिस्तान के अत्याचारों से मुक्ति दिलाना है।’’

मुख्य विपक्षी पार्टी ने इंदिरा गांधी की एक तस्वीर साझा करते हुए यह भी कहा, ‘‘विजय प्राप्ति के बाद लौह महिला इंदिरा गांधी का भाषण राष्ट्र भावना से ओतप्रोत करने वाला था। देश की सेना के पराक्रम ने पाकिस्तान को पराजित कर विश्व में भारत का परचम लहराया।’’

विजय दिवस के अवसर पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा ने 1971 के युद्ध में पाकिस्तानी सेना के खिलाफ भारतीय सेना की जीत और इंदिरा गांधी के नेतृत्व का वर्णन करने वाला एक वीडियो साझा किया।

पार्टी के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा ने कहा, ‘‘बांग्लादेश की मुक्ति और पाकिस्तान पर भारतीय सेना की निर्णायक जीत का 50 साल एक ऐसा मौका है जब हमें इंदिरा गांधी के मजबूत संकल्प और प्रेरक नेतृत्व को गर्व से याद करना चाहिए। हम करोड़ों लोगों की रक्षा करने के लिए दिखाए गए शौर्य और दिए गए बलिदान के लिए भारतीय सेना को सलाम करते हैं।’’

आज के ही दिन 1971 में 93,000 पाकिस्तानी सैनिकों का नेतृत्व कर रहे लेफ्टिनेंट जनरल आमिर अब्दुल्ला खान नियाजी ने ढाका में लेफ्टिनेंट जनरल जगजीत सिंह अरोड़ा के नेतृत्व में भारतीय सेना के समक्ष आत्मसमर्पण किया था और पूर्वी पाकिस्तान को ‘‘बांग्लादेश’’ घोषित किया गया था।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *