संत रविदास मंदिर मामले में सीएम ने कहा- केंद्र जमीन दे हम बनाएंगे भव्य मंदिर

नई दिल्ली, 22 अगस्त (सक्षम भारत)। संत रविदास मंदिर मामले को सुलझाने की पहल करते हुए दिल्ली की विधानसभा में सरकार ने एक बैठक की। इसमें कहा कि अगर केंद्र जमीन दें तो सरकार उसी जगह पर एक भव्य रविदास मंदिर बनवाएगी। वहीं अब इस मामले में आम आदमी पार्टी को भाजपा का भी साथ मिलता दिख रहा है। भाजपा विधायक ओम प्रकाश शर्मा ने भी संत रविदास मंदिर को फिर से बनाए जाने की मांग की है। बता दें कि संत रविदास मंदिर मामले को लेकर काफी बवाल हो रहा है।

विधानसभा सदन में संत रविदास मंदिर तोड़े जाने पर सीएम केजरीवाल ने कहा कि मंदिर तोड़े जाने का दुख है। मंदिर वहीं बनना चाहिए। इस पर कुछ लोग राजनीति कर रहे हैं। वे ऐसा न करें, यह मुद्दा 12 से 15 करोड़ लोगों की भावनाओं से जुड़ा है। केंद्र सरकार इसे ध्यान में रख कर फैसला ले। केंद्र सरकार यह 4-5 एकड़ जमीन मंदिर के लिए दे दे, मैं इसके बदले 100 एकड़ वन विकसित कर केंद्र सरकार को दे दूंगा। दिल्ली सरकार इस मामले में पार्टी नहीं है। मगर मैं अनुरोध कर रहा हूं कि सुप्रीम कोर्ट इस मामले में पुनर्विचार करे। मुख्यमंत्री के वक्तव्य के दौरान टोकाटाकी पर नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता व ओम प्रकाश शर्मा को सदन से बाहर किया गया।

केजरीवाल ने कहा कि यदि केंद्र सरकार 4-5 एकड़ जमीन दे देती है तो हम वहां संत रविदास का भव्य मंदिर बनवाएंगे। इसके लिए जितने पैसे खर्च करने पड़ेंगे तो हम करेंगे। केजरीवाल ने कहा कि मंदिर की जमीन के लिए केंद्र सरकार को फिर से कोर्ट जाना चाहिए। यदि ऐसा संभव नही है तो संसद में इस बारे में प्रस्ताव पास किया जाना चाहिए।

विधानसभा में फिर हंगामा: संत रविदास के मंदिर को तोड़े जाने को लेकर गुरुवार को सदन में चर्चा के दौरान हंगामा हुआ। सत्तापक्ष से विधायक सौरभ भारद्वाज द्वारा अपनी बात रखे जाने के दौरान नेता प्रतिपक्ष विजेंद्र गुप्ता की टोकाटाकी पर सत्तापक्ष के सदस्यों ने केंद्र सरकार के खिलाफ नारे लगाए। विजेंद्र गुप्ता ने कहा था कि सत्तापक्ष के विधायक सदन में उत्पात मचा रहे हैं। अध्यक्ष ने इस वाक्य को कार्यवाही से निकलवाया।

15 मिनट के लिए स्थगित: सत्तापक्ष के सदस्य मांग कर रहे हैं कि विजेंद्र गुप्ता माफी मांगे। विधानसभा अध्यक्ष ने कार्यवाही 15 मिनट के लिए स्थगित की। इधर, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सदन में पहुंच चुके हैं। कुछ देर में उन्हें रविदास मंदिर पर सदन में वक्तव्य देना है। इससे पहले भाजपा विधायक ओम प्रकाश शर्मा ने संत रविदास मंदिर को फिर से बनाए जाने की मांग का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि भाजपा इस मांग के साथ है।

क्या है मामला: तुगलकाबाद स्थित संत रविदास का मंदिर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जीडीए ने तोड़ा है। जिसके बाद से विरोध प्रदर्शन का दौर चल रहा है। बुधवार को ही पंजाब से आए कुछ लोगों के समूह ने दिल्ली में जमकर बवाल किया था। विरोध के समर्थन में दिल्ली के भी हजारों लोग सड़कों पर उतरे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *