सिद्धार्थ को याद कर भावुक हुए विद्युत जामवाल- खुशनसीब हूं मेरे पास शुक्ला जैसा स्त था

मुंबई, 08 सितंबर (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। ऐक्टर विद्युत जामवाल ने कभी सोचा भी नहीं था कि कभी ऐसा भी दिन आएगा जब उनका जिगरी यार सिद्धार्थ शुक्ला उनसे हमेशा के लिए दूर हो जाएगा और उन्हें इस तरह ट्रिब्यूट देना पड़ेगा। सिद्धार्थ शुक्ला की 2 सितंबर को हार्ट अटैक के चलते मौत हो गई थी। विद्युत जामवाल सिद्धार्थ को खोने के बाद से बहुत दुख में हैं और परेशान हैं। उन्होंने अपने बेस्ट फ्रेंड को ट्रिब्यूट देने के लिए इंस्टाग्राम पर लाइव रखा।

लाइव के दौरान विद्युत जामवाल ने सिद्धार्थ शुक्ला से जुड़े कई किस्से शेयर किए, जिनका जिक्र करते-करते उनका गला रुंध गया। विद्युत और सिद्धार्थ शुक्ला मॉडलिंग के दिनों से दोस्त थे और जिम पार्टनर भी थे। विद्युत का सिद्धार्थ की मां के साथ भी गहरा कनेक्शन था। जब भी वह सिद्धार्थ के घर जाते तो मां उन्हें राजमा चावल बनाकर खिलाती।

लाइव सेशन में विद्युत ने सिद्धार्थ के बारे में कहा, ‘हम दोनों का पिछले 15-20 सालों से रिश्ता था। मेरे ख्याल से बेस्ट फ्रेंड यही होते हैं। जब आप प्लान नहीं बनाते हो ज्यादा और अचानक से पहुंच जाते हो। वही बेस्ट फ्रेंडशिप होती है। सिद्धार्थ शुक्ला मेरा बेस्ट फ्रेंड इसलिए था क्योंकि मेरा उसके जैसा कोई दोस्त रहा ही नहीं। मेरा किसी के भी साथ ऐसा रिश्ता न तो है और न ही था, जैसा शुक्ला के साथ था। वो मुंबई में मेरा पहला जिम पार्टनर था। मुझे आज भी याद है कि उसने पहले दिन जिम में क्या पहना हुआ था।’

विद्युत ने आगे कहा, ‘मुझे अभी याद है कि ‘कमांडो’ वन फिल्म थी। एक हीरो के तौर पर वह मेरी पहली फिल्म थी। उस दिन जब मैं थिअटर में गया तो मैंने वहां शुक्ला को अपनी मॉम के साथ देखा। उसने मुझे बताया भी नहीं था कि वो मेरी पिक्चर देखने जा रहा है। वो कभी नहीं कहता था कि मुझे प्रीमियर पर बुलाओ या इनवाइट करो। शुक्ला इस तरह की चीजें करता था।

‘मैं हमेशा कहता हूं कि अगर आपको एक महिला ने पाल-पोसकर बड़ा किया तो आप एक अलग तरह के मर्द होगे। वो ऐसा ही था। वो बच्चों की, वॉचमैन की सबकी बहुत इज्जत करता था। जिम में ऐसा कोई आदमी नहीं था जो शुक्ला से डरता नहीं था। ऐसा कोई आदमी नहीं था जो उससे प्यार नहीं करता था। मैं शुक्ला के घर जब भी जाता तो आंटी हमेशा मेरे लिए खाना बनातीं। वो मुझे राजमा चावल बनाकर खिलातीं।’

विद्युत जामवाल ने सिद्धार्थ शुक्ला की पहली बाइक का किस्सा सुनाते हुए कहा, ‘शुक्ला एक ऐसा इंसान था जिसे मीडिया प्यार करती थी। उसे पैप कल्चर बहुत पसंद था। जब हम मॉडलिंग कर रहे थे तो उसने वाइट कलर की हायाबूसा बाइक खरीदी थी। वो मेरा इतना अच्छा दोस्त था कि मैं जब उससे कहता था कि यार मुझे इससे मिलने जाना है, तो वो मुझे बोलता था कि जा घर से बाइक उठा ले। मैं घर जाता था, बाइक लेता था और आंटी मुझे हेलमेट देती थीं। मेरी जितनी भी दोस्त थीं, मैं सबको उस बाइक पर घुमाने ले जाता था। बहुत लोगों को लगता था कि वो मेरी बाइक थी। मैं उसे शूट पर भी ले जाता था।

विद्युत जामवाल ने एक और किस्सा बताया कि किस तरह एक रात 12 बजे सिद्धार्थ ने उन्हे फोन किया और एक्साइटमेंट में चिल्लाते हुए कहा था कि ‘तेरा बाप आया’ गाना अब विद्युत का नहीं उनका है। फैन्स ने उन्हें डेडिकेट किया है। विद्युत ने कहा कि सिद्धार्थ सच्चे मायनों में मर्द था क्योंकि अगर कोई गलत होता था, तो वह उससे भिड़ जाता था। ‘बिग बॉस’ के घर में भी उसने ऐसा ही किया था। वो एकदम निडर था और ईमानदार था। जो वो सोचता था वो बोलता था। उसको जो दिखता था, वो दिखाता था। मैंने ऐसा कोई और नहीं देखा, जिसमें वो खूबी हो। मैं बहुत खुशनसीब हूं कि मेरे पास सिद्धार्थ शुक्ला जैसा बेस्ट फ्रेंड रहा, जिसके बारे में मैं गर्व से पूरी जिंदगी बात कर सकता हूं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *