डॉ. आंबेडकर ने आध्यात्मिक और सांस्कृतिक धरोहरों पर बहुत काम कियाः राष्ट्रपति

लखनऊ, 29 जून (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने मंगलवार को यहां कहा कि भारत रत्न डॉ. भीमराव आंबेडकर ने आध्यात्मिक और सांस्कृतिक धरोहरों को सहेजने के लिए बहुत काम किया। राष्ट्रपति ने डॉ. आंबेडकर के समता मूलक चिंतन का भी विस्तार से वर्णन किया। राजधानी लखनऊ में भारत रत्न डॉ. भीमराव आंबेडकर स्मारक एवं सांस्कृतिक केंद्र के शिलान्यास कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द ने कहा कि डॉ. आंबेडकर ने भगवान बुद्ध के करुणामय संदेश को अपनी विचारधारा का मुख्य आयार बनाया। राष्ट्रपति ने कहा कि बाबा साहब ने आज से करीब 93 साल पहले समता मूलक समाज की रचना की थी। बाबा साहब की जीवन यात्रा समता मूलक समाज में ही व्यस्त रही। वह कहते थे कि समाज का मिशन सबकी भलाई होता है। राम नाथ कोविन्द ने कहा कि राष्ट्रनिर्माण में बाबा साहब का योगदान अहम रहा है। केंद्र सरकार ने डॉ. आंबेडकर से जुड़े स्थलों को तीर्थ के रुप में विकसित किया और अब उप्र की योगी सरकार राजधानी लखनऊ में भारत रत्न डॉ. भीमराव आंबेडकर स्मारक एवं सांस्कृतिक केंद्र का निर्माण कर रही है। इससे बाबा साहब के विचारों का प्रवाह और आगे बढ़ेगा। अपने सम्बोधन में राष्ट्रपति ने यह भी बताया कि बाबा साहब का लखनऊ से बड़ा ही अंतरंग का सम्बंध था। वह अपने जीवन काल में लखनऊ बार-बार आया करते थे। लखनऊ उनके लिए बड़ी ही स्नेही भूमि रही।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *