मलेरिया विभाग, वार्ड-45 के निरीक्षक महिपाल के भ्रष्टाचार और लपहरवाही के कारण सुल्तानपुरी में मच्छरों का प्रकोप, पफर्जी हाजरियां लगाकर किया जा रहा है उ.दि.न.नि को कंगाल

-: कार्यालय संवाददाता :-

-: सक्षम भारत :-
नई दिल्ली । बाहरी जिला, सुल्तानपुरी.आर.डब्ल्यू.ए के महासचिव ने बताया कि उत्तरी-दिल्ली नगर निगम, रोहिणी जोन, वार्ड नं-45 के मलेरिया विभाग के निरीक्षक महिपाल के भ्रष्टाचार व लापरवाही के कारण सुल्तानपुरी के ब्लाॅक सी-6, 7, 8, 9, 10, पी-1, पी-2 व नाले के साथ बनी झुग्गीयों में मच्छरों का भारी प्रकोप दिन प्रति दिन बढ़ता जा रहा है।
मच्छरों का प्रकोप स्थानीय निवासियों पर पढ़ रहा है, जिससे आए दिन हर घर में मलेरिया, डेंगू, चिकिन गुनिया, टाईपफेड, बुखार, कोरोना पफेलता जा रहा है।
जब से निरीक्षक सतपाल वार्ड-45 मलेरिया विभाग में आऐं है, तब से सुल्तानपुरी के ब्लाकों में दवाई का छिड़काव व पफोगिंग की दवाईयों को बेच रहे है।
क्षेत्रा में दवाईयों का छिड़काव तक नही किया जा रहा है और घर बैठे कर्मचारियों की पफर्जी हाजरियां लगाकर निगम के खजानें को प्रति माह लाखों का चूना लगाया जा रहा है।
भ्रष्ट निरीक्षक महिपाल अपने चहेते दोस्तों के घर जोकि वार्ड क्षेत्रा में नही आते वहां पर भी खर्चा-पानी लेकर मंगोलपुरी क्षेत्रा में दवाई का छिड़काव करवाते है और छूटभईयें नेताओं की जी हजुरी करते है। जिससे की इनपर कोई आंच ना आऐं।
आरडब्ल्यूए कि मांग है कि महामहिम उपराज्यपाल, महापौर, आयुक्त, उ.दि.न.नि पद भ्रष्ट निरीक्षक महिपाल की आय से अध्कि चल-अचल सम्पत्ति व पफर्जी हाजरी और बेची जा रही दवाईयों की मुख्य सतर्कता अध्किारी, उ.दि.न.नि से निष्पक्ष जांच करवाकर निलंबित किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *