भारतीय महंगाई टीम

-डॉ. सुरेश कुमार मिश्रा- उरतृप्त

-: ऐजेंसी सक्षम भारत :-

कीमतें बढ़ती हैं तो सबके लिए बढ़ती हैं। ऐसा नही है कि सूरज के लिए दिन में तो चाँद के लिए रात में महंगाई घटती-बढ़ती है। ऐसा दुनिया किसी ओर कोने में होता होगा तो होता होगा। यह हिंदुस्तान है मेरी जान! यहाँ गीता, कुरान, बाइबल, गुरुग्रंथ साहिब आदि की बातें समझ में आएँ या न आएँ मंहगाई की बात सबको समझ में आती है। वैसे इंसानी शरीर दिमाग की बातें समझने में बड़ा नाक-भौं सिकुड़ता है, लेकिन पेट की बात चुटकी बजाते समझ जाता है। विराट कोहली शतक बनाए न बनाए फिर चाहे शून्य पर ही क्यों न आऊट हो जाए, अब कोई फर्क नहीं पड़ता। देश को पेट्रोल के नाम पर ऐसा बल्लेबाज मिला है, जो शहर, गाँव, मोहल्ला, बस्ती, गली हर जगह शतक बनाने से नहीं चूकता। वह दिन दूर नहीं जब सचिन तेंदुलकर के रनों का अंबार पेट्रोल अपने अकेले के दम पर तोड़कर नए-नए कीर्तिमान स्थापित करेगा। तब हमारे पास प्रसंशा के नाम पर सिर्फ और सिर्फ ताली-थाली पीटने के सिवाय कोई दूसरा काम नहीं बचेगा।
आजकल के छोकरे कोलकाता का ऐतिहासिक टेस्ट मैच नहीं जानते होंगे। फॉलोऑन खेलते हुए वीवीएस लक्ष्मण और राहुल द्रविड़ ने ऐसी पारी खेली थी कि आस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम का सारा का सारा घमंड चकनाचूर हो गया था। किंतु आजकल के छोकरों को निराश होने की आवश्यकता नहीं है। उन्हें पेट्रोल और डीजल के रूप में ऐसे खिलाड़ी मिले हैं जो कभी-कभार नहीं हमेशा फालोऑन की पारी खेलने के लिए तत्पर रहते हैं। इन दोनों की साझेदारी शोले के जय-वीरू से भी सॉलिड है। फेवीक्विक का विज्ञापन इनके सामने पानी भरता है। कोई मजाल जो इन्हें आऊट कर सकें। अभी तक ऐसा कोई बॉलर पैदा नहीं हुआ जो इन्हें मैदान तो दूर सपने तक में आऊट कर सके। भारतीय क्रिकेट टीम के सभी नामी-गिरामी खिलाडियों की नींद हराम हो चुकी है। इन सबको रिप्लेस करने के लिए एक से बढ़कर धुरंधर खिलाड़ी आ चुके हैं। पेट्रोल-डीजल ओपनिंग में उतरकर ऐसे धुआंधार शॉट खेलेंगे कि सबके छक्के छूट जाते हैं। मिडिल ऑर्डर में गैस सिलेंडर, खाने का तेल, अनाज की तिकड़ी को देखकर रोंगटे खड़े हो जाते हैं। निचले क्रम में बिजली, दाल, सब्जी, फल, दूध, चीनी का आतंक देख बाप रे बाप कहती हुईं दुनिया की सारी टीमें खेलने से पहले ही धराशायी हो गई हैं।
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) अगले सारे विश्व कप के लिए भारतीय मंहगाई टीम को विजेता घोषित कर चुकी है। विश्व कप ट्रॉफी प्रदान करने के लिए मु य अतिथियों के रूप में बोल बच्चन, बॉडीबिल्डर कुमार, डॉक्टर डेंग को ढूँढ़ रही है। आजकल वे इतने व्यस्त हैं कि उन्हें पसीना पोंछने तक की फुर्सत नहीं है। बोल बच्चन साहब को आमंत्रित करने के लिए आईसीसी ने विशेष मुहिम चलाई है। देशभर में हर दिन कई सं या में दो-चार रुपए का पेट्रोल खरीदकर कारें जलायी जा रही हैं। सुना है ऐसा करने से बोल बच्चन साहब अपने ट्विट के बिल से निकलकर बाहर आ जाते हैं। बॉडीबिल्डर कुमार के लिए दुनिया भर की एक से बढ़कर एक साइकिल मंगवाई गई है। उन्हें साइकिलों को बड़ा शौक है। शायद इसी बहाने वे आ जाएँ। अंदर की बात यह है कि गांजा खेर भी इन्हीं साइकिलों के लिए मुँह फुलाएँ कहीं छिपे बैठे हैं। जो भी हो कुल मिलाकर भारतीय महंगाई टीम का भविष्य उज्ज्वल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *