नवदीप सैनी ने यूं बनाया विल पुकोवस्की को अपना पहला टेस्ट शिकार

सिडनी, 07 जनवरी (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। नवदीप सैनी को सिडनी टेस्ट के लिए भारतीय टीम में शामिल किया गया। गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया और भारत के बीच शुरू हुए सीरीज के तीसरे टेस्ट मैच में सैनी को जसप्रीत बुमराह ने टेस्ट कैप थमाई। सैनी भारत की ओर से टेस्ट क्रिकेट खेलने वाले 299वें खिलाड़ी बने। सैनी के टेस्ट करियर की पहली गेंद पर ही विल पुकोवस्की ने चैका लगाया। हालांकि इसके बाद उन्होंने अच्छी वापसी की।

सैनी ने हालांकि अपने तीसरे ओवर में शानदार वापसी की। पारी के 35वें ओवर में सैनी ने शानदार फॉर्म में चल रहे पुकोवस्की को एलबीडब्लू कर दिया। सैनी ने वही कर दिखाया जिसके लिए उन्हें जाना जाता है। तेज और फुल लेंथ गेंद क्रॉस जाकर खेल रहे पुकोवस्की के पैड पर लगी। पुकोवस्की गेंद को फ्लिक करना चाहते थे लेकिन गेंद उन्हें चकमा देकर पैड से लगी।

पुकोवस्की ने लाबुशाने से बात की और आखिर में रिव्यू नहीं लेने का फैसला किया। पुकोवस्की अच्छी बल्लेबाजी कर रहे थे ऐसा लग रहा था कि वह शतक लगा लेंगे लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। रीप्ले में साफ दिख रहा था कि गेंद सीधा विकेटों से टकरा रही है।

इससे पहले पुकोवस्की को कुछ मौके भी मिले। ऋषभ पंत ने पुकोवस्की को दो जीवनदान भी दिए। पंत ने दो बार पुकोवस्की के कैच छोड़े। पहले 22वें ओवर की आखिरी गेंद पर रविचंद्रन अश्विन की गेंद पर पुकोवस्की चूके और गेंद ने बल्ले का बाहरी किनारा लिया। यह एक आसान सा कैच था लेकिन पंत हड़बड़ी में कैच छोड़ बैठे।

इसके बाद 25वें ओवर में पंत ने मोहम्मद सिराज की गेंद पर पुकोवस्की को एक और जीवनदान दिया। सिराज की शॉर्ट पिच गेंद को पुकोवस्की पुल करने गए लेकिन गेंद उनके दस्तानों से लगकर हवा में ऊंची गई। पंत पीछे की ओर दौड़े लेकिन दो प्रयासों के बावजूद गेंद को लपक नहीं सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *