खेल

अभिषेक को गेंदबाजी करना डरावना है: कमिंस

हैदराबाद, 20 मई (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के मौजूदा सत्र में 209.41 की स्ट्राइक रेट से बल्लेबाजी करने वाले अभिषेक शर्मा के कसीदे गढ़ते हुए सनराइजर्स हैदराबाद के कप्तान और अनुभवी तेज गेंदबाज पैट कमिंस ने कहा कि वह इस वामहस्त विस्फोटक बल्लेबाज को गेंदबाजी नहीं करना चाहेंगे क्योंकि यह काफी डरावना है।

अभिषेक ने लीग के मौजूदा सत्र में गेंदबाजों के मन में खौफ पैदा किया है, जिसमें उनकी आईपीएल टीम और ऑस्ट्रेलिया के कप्तान कमिंस भी शामिल हैं। अभिषेक ने रविवार को पंजाब किंग्स के खिलाफ 28 गेंदों में 66 रनों की पारी में छह छक्के और पांच चौके जड़े जिससे उनकी टीम ने पांच गेंद शेष रहते 215 रनों के लक्ष्य को हासिल कर लिया।

कमिंस ने मैच के बाद पुरस्कार समारोह में कहा, ‘‘वह (अभिषेक) अद्भुत हैं. मैं उसे गेंदबाजी नहीं करना चाहूंगा. यह डरावना है क्योंकि वह तेज गेंदबाजों और स्पिनरों के खिलाफ बेखौफ होकर खेलता है

घरेलू क्रिकेट में पंजाब का प्रतिनिधित्व करने वाले 23 साल के अभिषेक ने इस आईपीएल सत्र में 13 मैचों में लगभग 210 की स्ट्राइक रेट से 467 रन बनाए हैं। उन्होंने इस दौरान 41 छक्के और 35 चौके लगाये है। वह एक आईपीएल सत्र में सबसे ज्यादा छक्के लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज बन गये है।

कमिंस ने नितीश रेड्डी की भी सराहना की जिन्होंने चौथे क्रम पर बल्लेबाजी करते हुए 25 गेंदों में 37 रन की महत्वपूर्ण पारी खेली। उन्होंने कहा, ‘‘नीतीश एक स्तरीय खिलाड़ी हैं, अपनी उम्र से कहीं अधिक परिपक्व हैं, ऐसा लगता है कि वह खेल को बहुत अच्छी तरह से समझता है। वह हमारे शीर्ष क्रम के लिए बिल्कुल उपयुक्त हैं।’’

मैन ऑफ द मैच चुने गये अभिषेक ने कहा कि महान बल्लेबाज ब्रायन लारा के साथ काम करने के बाद उन्हें काफी फायदा हुआ है। लारा इस सत्र पहले इस फ्रेंचाइजी से जुड़े थे। अभिषेक ने कहा, ‘‘मैंने उनके साथ कुछ काम किया है, वह मेरे संपर्क में हैं। अब भी मुझे मदद मिल रही है।’’

अभिषेक ने पंजाब के खिलाफ 21 गेंद में अर्धशतक बनाया जो इस सत्र में उनका सबसे धीमा पचासा है। उन्होंने इससे पहले मुंबई इंडियंस के खिलाफ 16 गेंदों पर और लखनऊ सुपर जायंट्स के खिलाफ 19 गेंदों पर 50 रन पूरे किये थे। उन्होंने कहा, ‘‘मै लय में हू इसलिए मुझे इसे अपनी टीम के लिए उपयोग करना चाहिए। मैं योगदान देना चाहता था क्योंकि आज लक्ष्य बड़ा था।’’

उन्होंने अपने अति-आक्रामक रुख के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘‘मुझे लगता है कि मैंने यह पहले भी कहा है, सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के दौरान मैं स्पष्ट था कि मुझे आईपीएल में कैसे खेलना है। मैं गेंदबाजों पर हावी होना चाहता था।’’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ykhij,lhj,lhi