उमेश और अश्विन ने आस्ट्रेलिया को दिये झटके

मेलबर्न, 28 दिसंबर (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। भारत ने आस्ट्रेलिया की दूसरी पारी में शीर्ष क्रम के दो विकेट निकालकर सोमवार को यहां दूसरे टेस्ट क्रिकेट मैच के तीसरे दिन चाय के विश्राम तक अपना पलड़ा भारी रखा लेकिन तेज गेंदबाज उमेश यादव के चोटिल होने से उसकी परेशानी बढ़ गयी हैं। आस्ट्रेलिया ने तीसरे दिन चाय के विश्राम तक दो विकेट पर 65 रन बनाये हैं और वह भारत से अभी 66 रन पीछे है। भारत ने आस्ट्रेलिया के 195 रन के जवाब में कप्तान अजिंक्य रहाणे (112) के आकर्षक शतक और रविंद्र जडेजा (57) के अर्धशतक की मदद से अपनी पहली पारी में 326 रन बनाये। चाय के विश्राम के समय सलामी बल्लेबाज मैथ्यू वेड 27 और स्टीव स्मिथ छह रन पर खेल रहे थे। उमेश ने अपने दूसरे ओवर में ही जो बर्न्स (चार) को विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच कराया। बर्न्स को विश्वास नहीं था कि गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर गयी है और उन्होंने डीआरएस का सहारा लिया। रीप्ले से साफ हो गया कि गेंद उनके बल्ले को चूमकर गयी थी और इस तरह से आस्ट्रेलिया ने एक रिव्यू गंवा दिया। रहाणे ने ऑफ स्पिनर अश्विन को गेंद सौंपने में देर नहीं लगायी और उन्होंने फिर से अपना करिश्मा दिखाते हुए मार्नस लाबुशेन (28) को अपनी कैरम बॉल के जाल में फंसाया। बल्लेबाज ने उनकी गेंद रक्षात्मक रूप से खेलने का प्रयास किया लेकिन वह बल्ले का किनारा लेकर पहली स्लिप में रहाणे के पास चली गयी। उमेश के चोटिल होने से हालांकि भारत की चिंता बढ़ गयी है जो पहले ही मोहम्मद शमी और इशांत शर्मा की चोटों से परेशान है। उमेश अपना चैथा ओवर करते समय लड़खड़ा गये और उन्हें दर्द के कारण लंगड़ाते हुए मैदान छोड़ना पड़ा। इससे पहले रहाणे की आकर्षक शतकीय पारी का रन आउट होने से निराशाजनक अंत हुआ। भारत ने सुबह पांच विकेट पर 277 रन से आगे खेलना शुरू किया और तीसरे दिन पहले सत्र में केवल 49 रन जोड़े और इस बीच अपने बाकी बचे पांचों विकेट गंवाये। रहाणे की शानदार पारी का अंत रन आउट होने से हुआ। वह टेस्ट मैचों में पहली बार रन आउट हुए। उन्होंने 223 गेंदें खेली तथा 12 चैके लगाये। रहाणे ने जडेजा के साथ छठे विकेट के लिये 121 रन की साझेदारी की। जडेजा उन्हें रन लेने के लिये आवाज लगायी थी जबकि तब रन लेना खतरे से खाली नहीं था। जडेजा तब अर्धशतक से एक रन दूर थे। उन्होंने शार्ट कवर पर शॉट खेला और एक रन के लिये दौड़ पड़े। रहाणे ने उन्हें वापस नहीं भेजा और रन के लिये आगे बढ़ गये पर समय पर क्रीज पर नहीं पहुंच पाये। जडेजा ने हालांकि अपनी भूमिका बखूबी निभायी जबकि आस्ट्रेलियाई तेज गेंदबाजों ने उनकी शार्ट पिच गेंदों से कड़ी परीक्षा ली। उन्होंने अर्धशतक पूरा करने के बाद अपने चिर परिचित अंदाज में तलवार की तरह बल्ला घुमाया। इसके बाद मिशेल स्टार्क (26 रन देकर तीन विकेट) की एक शार्ट पिच गेंद पर पुल करके उन्होंने डीप मिडविकेट पर कैच दिया। मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड (एमसीजी) की पिच तीसरे दिन खतरनाथ नहीं दिख रही थी तथा आस्ट्रेलियाई गेंदबाज रहाणे और जडेजा के सामने कोई चुनौती पेश नहीं कर पाये थे। आस्ट्रेलिया को विकेट की सख्त जरूरत थी और ऐसे में रहाणे के आउट होने से उसने राहत की सांस ली। भारत के निचले क्रम के अन्य बल्लेबाज संघर्ष नहीं कर पाये। रविचंद्रन अश्विन ने 14 रन बनाये। नाथन लियोन (72 रन देकर तीन) और जोश हेजलवुड (47 रन देकर एक) ने भारत के पुछल्ले बल्लेबाजों को समेटने में देर नहीं लगायी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *