सभी क्षेत्रों के लिए डिजायन तैयार करे खादी: गडकरी

नई दिल्ली, 25 सितंबर (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। केंद्रीय सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग मंत्री नितिन गडकरी ने बुधवार को कहा कि खादी एवं ग्रामोद्योग को परंपरा को ध्यान में रखते हुए देश के विभिन्न क्षेत्रों के लिए अलग-अलग डिजायन तैयार करने चाहिए।
श्री गडकरी ने यहां खादी के लिए डिजायन पर आयोजित एक विशेष बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि खादी को अधिकतम उत्पादन तथा बिक्री और वैश्विक ब्रांड बनने के लिए अलग-अलग क्षेत्रों के लिए विभिन्न डिजायनों में उत्पाद तैयार करने चाहिए। इस बीच उसे अपनी परंपरा को भी संरक्षित रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश में युवाओं के लिए खादी को और अधिक आकर्षित बनाने की जरूरत है। उत्पादों का डिजायन उपभोक्तओं की पसंद और मांग के अनुरूप होना चाहिए। खादी के उत्पादों में स्थानीयता, मौसम और आवश्यकता को भी ध्यान में रखना चाहिए।
बैठक में देश के विभिन्न हिस्सों में खादी एवं ग्रामोद्योग के लिए डिजायन और उत्पादन केंद्र बनाने पर विचार-विमर्श किया गया। इसका आयोजन खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग ने किया था। बैठक में डिजायन एवं उत्पादन केंद्र बनाने के तौर तरीकों पर चर्चा की गयी। इस दौरान मंत्रालय में सचिव अरुण कुमार पांडा, कपड़ा सचिव रवि कपूर, खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग के अध्यक्ष वी के सक्सेना तथा प्रसिद्ध डिजायनर रितु बेरी, रोहित बल,जे जे वलाया, राघवेंद्र राठौर और वरिष्ठ सरकारी अधिकारी मौजूद थे। इसके अलावा राष्ट्रीय डिजायन संस्थान और राष्ट्रीय फैशन प्रौद्योगिकी संस्थान के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।
प्रस्तावित डिजायन एवं उत्पादन केंद्रों में बाजार की मांग के अनुरूप खादी के उत्पादों के डिजायन तैयार किये जाएंगे। ये केंद्र बाजार के चलन को पहचानेंगे और खादी के उत्पादों को उसी के अनुरूप तैयार करेंगे। खादी एवं ग्रामोद्योग आयोग ने देश के पूर्वी, पश्चिमी, उत्तरी और दक्षिणी हिस्से में चार डिजायन केंद्र खोलने का प्रस्ताव किया है। इसके अलावा पूर्वोत्तर भारत के लिए अलग डिजायन केंद्र होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *