खेल

शीर्ष वरीय जोकोविच सातवीं बार बने विम्बलडन चैंपियन

लंदन, 11 जुलाई (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। विश्व के नंबर एक खिलाड़ी सर्बिया के नोवाक जोकोविच ने रविवार को हाई वोल्टेज फ़ाइनल में ऑस्ट्रेलिया के निक किर्गियोस को चार सेटों के बेहद रोमांचक मुकाबले में 4-6, 6-3, 6-4, 7-6(3) से हराकर सातवीं बार विम्बलडन का पुरुष एकल खिताब जीत लिया। शीर्ष वरीय जोकोविच ने लगातार चौथी बार यह खिताब जीता है। जोकोविच ने 2011, 2014, 2015, 2018, 2019, 2021, 2022 में यह खिताब जीता है। अपने सातवें खिताब के साथ जोकोविच ने अमेरिका के पीट सम्प्रास के एकल खिताबों के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। अपने 21वें ग्रैंड स्लेम खिताब के साथ जोकोविच अब स्पेन के राफेल नडाल के 22 ग्रैंड स्लेम खिताबों के रिकॉर्ड से एक कदम पीछे रह गए हैं।

पहली बार ग्रैंड स्लेम फ़ाइनल खेल रहे किर्गियोस ने पहले सेट में अपनी क्लास दिखाकर जोकोविच को चौंका दिया। लेकिन मैराथन मैन के नाम से मशहूर जोकोविच ने इसके बाद शानदार वापसी करते हुए अगले तीन सेट जीतकर मैच तीन घंटे एक मिनट में निपटा दिया। टॉप सीड ने दूसरे और तीसरे सेट में महत्वपूर्ण मौकों पर किर्गियोस की सर्विस तोड़ी और चौथे सेट के टाई ब्रेक को 7-3 से जीत लिया।उन्होंने इस जीत के साथ विम्बलडन में अपने विजय क्रम को 28 मैच पहुंचा दिया है। जोकोविच की टूर स्तर पर किर्गियोस के खिलाफ तीन मुकाबलों में यह पहली जीत है। किर्गियोस ने इससे पहले जोकोविच से अपने पिछले दोनों मुकाबले जीते थे लेकिन इस मैच में किर्गियोस अपने आप से, दर्शकों से, चेयर अम्पायर से और जोकोविच के शक्तिशाली ग्राउंड स्ट्रोक्स से संघर्ष करते नजर आये।

पहले सेट में किर्गियोस ने शानदार सर्व करते हुए जीत हासिल की। लेकिन वह इस लय को बरकरार नहीं रख पाए। जोकोविच ने दूसरे और तीसरे सेट को आसानी से अपने नाम किया। अंतिम सेट भी किर्गियोस ने जरूर टक्कर दी लेकिन यह काफी नहीं रहा। यह नोवाक जोकोविच का 7वां विंबलडन और 21 ग्रैंड स्लैम खिताब है। उन्होंने सबसे ज्यादा ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने के मामले में स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर को पीछे छोड़ दिया है। फेडरर ने अभी तक 20 ग्रैंड स्लैम खिताब जीते हैं। सबसे ज्यादा 22 खिताब जीतने का रिकॉर्ड स्पेन के राफेल नडाल के पास था। इस साल की शुरुआत में तीनों खिलाड़ियों के नाम 20-20 खिताब थे। नडाल ने ऑस्ट्रेलियन और फ्रेंच ओपन जीता। विंबलडन में वह सेमीफाइनल से पहले पेट में चोट की वजह से बाहर हो गए। दूसरी वरीय सर्बिया के नोवाक जोकाविच रिकॉर्ड 32वां ग्रैंड स्लैम फाइनल खेल रहे थे जबकि किर्गियोस करियर के पहले ग्रैंड स्लैम फाइनल में खेलने उतरे थे, लेकिन उन्हें पहली बार चैंपियन बनने के लिए इंतजार करना होगा।

नोवाक का सातवें खिताब का सफर इस प्रकार रहा:
पहले दौर में दक्षिण कोरिया के क्वोन सून वू को 6-3, 3-6, 6-3, 6-4 से हराया।
दूसरे दौर में ऑस्ट्रेलिया के थानसी कोक्किनाकिस को 6-1, 6-4, 6-2 से हराया।
तीसरे दौर में सर्बिया के मियोमीर केश्मानोविच को 6-0, 6-3, 6-4 से हराया।
चौथे दौर में नीदलैंड के टिम वान रिज्तोवेन को 6-2, 4-6, 6-1, 6-2 से हराया।
क्वार्टर फाइनल में इटली के यानिक सिनर को 5-7, 2-6, 6-3, 6-2, 6-2 से हराया।
सेमीफाइनल में ब्रिटेन के कैमरन नूरी को 2-6, 6-3, 6-2, 6-4 से हराया।
फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के निक किर्गियोस को 4-6, 6-3,6-4, 7-6 (7-3) से हराया।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ykhij,lhj,lhi