आखिरी छोर पर बैठे कारीगरों को मुख्यधारा में ला रहा है ष्हुनर हाटष्: भूपेंद्र यादव

नई दिल्ली, 23 दिसंबर (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने बृहस्पतिवार को कहा कि अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय की ओर से आयोजित होने वाला ‘‘हुनर हाट’’ दूर-दराज के कारीगरों को मुख्यधारा के साथ जोड़ रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र की ‘‘आत्मनिर्भर भारत’’ की संकल्पना को आगे बढ़ा रहा है।

वह यहां 35वें ‘‘हुनर हाट’’ के उद्घाटन के मौके पर बोल रहे थे। इस मौके पर केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, संस्कृति राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी, पूर्व केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन और अन्य गणमान्य अतिथि मौजूद थे।

यादव ने कहा कि देश में हर जगह हुनर है जिसे यह ‘‘हुनर हाट’’ बढ़ावा देता है। उन्होंने कहा, ‘‘यह प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना को आगे बढ़ा रहा है… आखिरी छोर पर बैठे कारीगरों को मुख्य धारा में ला रहा है।’’

आगामी पांच जनवरी तक चलने वाले इस ‘‘हुनर हाट’’ में देश के 30 से अधिक राज्यों, केंद्र शासित प्रदेशों के 700 से ज्यादा दस्तकार, शिल्पकार, कारीगर एवं पारम्परिक पकवानों के उस्ताद भाग ले रहे हैं।

नकवी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने देश में हुनर की विरासत को नई ऊर्जा और अवसर प्रदान किया है।

अल्पसंख्यक कार्य मंत्री ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार द्वारा देश की हुनर की विरासत को नई ऊर्जा, साथ ही मौका-मार्किट भी मुहैया कराया जा रहा है।’’

उन्होंने बताया कि “हुनर हाट” ने पिछले लगभग 6 वर्षों के दौरान 7 लाख 50 हजार से अधिक कारीगरों, शिल्पकारों और उनसे जुड़े लोगों को रोजगार और स्व-रोजगार के अवसर प्रदान किए हैं। इनमें 40 प्रतिशत से अधिक महिलाएं हैं।’’

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *