प्रतिकूल परिस्थितियों में भी एक टीम के रूप में फोकस बनाये रखो, मनप्रीत की जूनियर टीम को सलाह

भुवनेश्वर, 23 नवंबर (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। तोक्यो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता भारतीय हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह ने जूनियर कप्तान विवेक सागर प्रसाद को सलाह दी है कि एफआईएच जूनियर हॉकी विश्व कप जैसे अहम टूर्नामेंट में विषम परिस्थितयों में भी एक टीम के तौर पर फोकस बनाये रखना ही सफलता की कुंजी होगा।

गत चैम्पियन भारत को कलिंगा स्टेडियम पर गुरूवार को फ्रांस से पहला मैच खेलना है।

मनप्रीत ने हॉकी इंडिया द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा, ‘‘मैने विवेक से कई बार बात की है। मैने उसे कहा कि सबसे जरूरी बात एक टीम के रूप में बने रहना है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘जीत और हार खेल का हिस्सा है लेकिन हारने पर ऊंगलियां उठने लगती है। मैने उससे कहा कि इससे बचना है और अपने खेल पर फोकस रखना है। एक टीम के रूप में ही खेलना है जिससे हर मैच जीतने में मदद मिलेगी।’’

प्रसाद तोक्यो ओलंपिक टीम का हिस्सा थे। भारतीय जूनियर टीम ने तैयारियों के लिये सीनियर खिलाड़ियों के साथ अभ्यास किया।

मनप्रीत ने कहा, ‘‘उन्होंने हमें एक मैच में हरा दिया था। मुझे यकीन है कि वे फाइनल तक पहुंचेंगे। एक टीम के रूप में पूरे टूर्नामेंट में खेलते रहे तो ट्रॉफी भी जीत लेंगे।’’

ओलंपिक कांस्य पदक विजेता टीम के एक अन्य सदस्य पी आर श्रीजेश का मानना है कि भारतीय खिलाड़ियों को दर्शकों की कमी खलेगी क्योंकि यह टूर्नामेंट कोरोना महामारी के कारण दर्शकों के बिना हो रहा है।

उन्होंने कहा, ‘‘पिछले कुछ महीने से बेंगलुरू में यह टीम शानदार खेल रही है। हमने भी उनके खिलाफ कुछ मैच खेले। लेकिन मुझे लगता है कि दर्शकों की कमी खलेगी। कलिंगा स्टेडियम की यह खूबी है कि वहां दर्शक जमकर हौसलाअफजाई करते हैं। वह शोर और तालियां, उसकी कमी खलेगी। इसके बावजूद मुझे यकीन है कि वे शानदार प्रदर्शन करेंगे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *