आगरा और चंबल में भारी मूसलाधार बारिश

आगरा, 18 अगस्त (सक्षम भारत)। आगरा में रविवार तड़के भारी बारिश हुई, जिससे शहर के निचले इलाकों में पानी भर गया है। वेदरमेन ने आगामी दो दिनों तक इन क्षेत्रों में लगातार बारिश की संभावना व्यक्त की है। आमतौर पर सूखी रहने वाली यमुना नदी का जलस्तर बढ़ गया है। दरअसल ऊपरी बैराज द्वारा नदी में भारी मात्रा में पानी को छोड़ा गया है। हथिनी कुंड बैराज से शुक्रवार को एक लाख से अधिक क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। वहीं ओखला और गोकुल बैराज से बीते दो दिनों में पानी की भारी मात्रा छोड़ी गई थी, जिससे आगरा में जल स्तर बढ़कर 486 फीट हो गया है।

आगरा के दक्षिण में स्थित चंबल नदी में भी कोटा के बैराज से नियमित पानी छोड़ने के कारण बाढ़ आ गई है। मध्य प्रदेश और राजस्थान में भारी बारिश के बाद शनिवार को कोटा बैराज द्वारा 1.62 लाख से अधिक क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। आगरा प्रशासन ने नदी के किनारे बसे आधा दर्जन से अधिक गांवों में पानी घुसने से वहां हाई अलर्ट जारी कर दिया है। अधिकारियों को आशंका है कि रविवार देर शाम तक खतरे का निशान पार हो सकता है।

बाढ़ से ग्रसित गांवों में लोगों को राहत देने के लिए स्टीमर सेवा शुरू की गई है। सब-डिविजनल मजिस्ट्रेट (एसडीएम) महेश गुप्ता ने कहा कि बाढ़ की स्थिति पर नजर रखने के लिए आठ चेक पोस्ट बनाए गए हैं। हालांकि, वन विभाग और वाइल्डलाइफ डिपार्टमेंट ने चंबल में मगरमच्छों और घड़ियालों के साथ कछुओं को बचाने के लिए अपनी कमर कस ली है। वहीं पिनाहट इलाके में एक मगरमच्छ शुक्रवार को एक घर में घुस गया था। वाइल्डलाइफ एसओएस टीम ने मुग्गर मगरमच्छ को वहां से निकाल कर नदी में छोड़ा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *