विश्व कप में भारतीय तीरंदाजों के प्रदर्शन से पता चलता है कि ओलंपिक की तैयारी कैसी है: अभिषेक वर्मा

नई दिल्ली, 30 जून (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। तीरंदाज अभिषेक वर्मा, जिन्होंने हाल ही में विश्व कप में स्वर्ण पदक जीता है, को लगता है कि शोपीस इवेंट में भारतीय एथलीटों के प्रदर्शन से पता चलता है कि वे आगामी टोक्यो ओलंपिक के लिए तैयार हैं। अभिषेक ने पेरिस में तीरंदाजी विश्व कप चरण तीन में अपना दूसरा व्यक्तिगत विश्व कप स्वर्ण पदक जीता। अभिषेक ने शूट-ऑफ में यूएसए के क्रिस शैफ को हराकर स्वर्ण पदक जीता। तीरंदाज दीपिका कुमारी ने भी 2021 तीरंदाजी विश्व कप के तीसरे चरण में रिकर्व महिला स्पर्धा में अपनी जीत के साथ स्वर्ण पदकों की हैट्रिक लगाई। इसके अलावा, भारत की महिला रिकर्व टीम जिसमें दीपिका, कोमलिका बारी और अंकिता भक्त शामिल हैं, ने रविवार को पेरिस में तीरंदाजी विश्व कप स्टेज 3 में स्वर्ण पदक जीता। अभिषेक ने कहा, ष्यह एक बड़ा आयोजन था और पदक जीतना मुश्किल था क्योंकि दुनिया भर के खिलाड़ियों ने इसमें भाग लिया था। शीर्ष खिलाड़ियों को हराना निश्चित रूप से सबसे कठिन काम था, लेकिन अब वे जानते हैं कि भारतीय खिलाड़ी हार मानने वाले नहीं हैं।ष् सभी तीरंदाज ओलंपिक के लिए कड़ी मेहनत कर रहे हैं। इस टूर्नामेंट में स्वर्ण जीतना और पिछली प्रतियोगिताओं में पदक जीतना बताता है कि भारतीय तीरंदाज मुख्य आयोजन के लिए तैयार हैं।ष् अभिषेक ने मंगलवार को भारतीय तीरंदाजी संघ (एएआई) के प्रमुख और केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा से मुलाकात की। एएआई प्रमुख ने कहा कि शासी निकाय देश में ऐसी और प्रतिभाओं की पहचान करने पर काम कर रहा है। अर्जुन मुंडा ने कहा, ष्एएआई भारत के ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिभाशाली तीरंदाजों की पहचान करने पर काम कर रहा है। अगली पीढ़ी के खिलाड़ियों को खोजने के लिए तीरंदाजों के लिए प्रतिभा खोज भी आयोजित की जा रही है जो समान सफलता हासिल करेंगे।ष्

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *