ऑक्सीजन सप्लाई मामले में बोले संबित, केजरीवाल ने किया जघन्य अपराध, कई लोगों की बच सकती थी जान

नई दिल्ली, 25 जून (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। कोरोना महामारी की दूसरी लहर से पूरा देश परेशान था। इस दौरान दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने जरूरत से 4 गुना ज्यादा ऑक्सीजन की मांग की थी। इसका खुलासा सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित की गई एक टीम ने किया है। इसी मामले को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। जिसमें उन्होंने केजरीवाल सरकार पर जमकर हमला बोला।

उन्होंने कहा कि भाजपा नेता ने कहा कि 25 अप्रैल से लेकर 10 मई तक कोरोना की दूसरी लहर अपने चरम पर थी। दिल्ली में भी हाहाकार मची हुई थी। लोगों को ऑक्सीजन और बेड की जरूरत थी। लेकिन अरविंद केजरीवाल ने ऑक्सीजन को लेकर भी राजनीति की।

उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन को लेकर सुप्रीम कोर्ट को लेकर चला था। दिल्ली सरकार ने कोर्ट में कहा था कि दिल्ली को जितनी जरूरत थी, उतनी सप्लाई केंद्र सरकार नहीं कर रही है। जिसके बाद कोर्ट ने एक टीम बनाई थी। उन्होंने कहा कि टीम की रिपोर्ट कहती है कि सप्लाई की मांग जरूरत 4 चार गुना ज्यादा की गई। इतना ही नहीं केजरीवाल जी के झूठ की वजह से 12 राज्य प्रभावित हुए। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश, हरियाणा समेत 12 राज्य प्रभावित हुए थे। क्योंकि बाकी राज्यों की ऑक्सीजन को काटकर दिल्ली भेजा गया था।

उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार द्वारा 4 गुना ज्यादा ऑक्सीजन की जरूरत बताई गई, जिससे ऑक्सीजन टैंकर सड़क पर खड़े रहे। अगर ये ऑक्सीजन दूसरे राज्यों में उपयोग होती तो कई लोगों की जान बच सकती थी। ये अरविंद केजरीवाल जी द्वारा किया गया जघन्य अपराध है।

भाजपा नेता ने कहा कि दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन के कारण कई लोगों ने अपनी जान गंवाई, इसके लिए अरविंद केजरिवाल जी जिम्मेदार हैं। हम आशा करते हैं सर्वोच्च न्यायालय में वो जिम्मेदार ठहराए जाएंगे और जो अपराध उन्होंने किया है, उसके लिए उन्हें दंडित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि 100 फीसदी विज्ञापन और जीरो प्रतिशत कोविड मैनेजमेंट, इस फार्मूला पर अरविंद केजरीवाल जी काम कर रहे हैं। अरविंद केजरीवाल जी ने 1,000 करोड़ रुपए केवल विज्ञापन पर खर्च किये हैं। सबसे बड़ी बात अरविंद केजरीवाल जी ने ऑक्सीजन को लेकर 4 गुना झूठ बोला है। भाजपा नेता ने कहा कि हिंदुस्तान की राजनीति में पहली बार 4 गुना झूठे साबित हो रहे हैं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। ये छोटी बात नहीं है। अरविंद केजरीवाल को जनता को जवाब देना होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *