सीएम जयराम ठाकुर का ऐलान, दोषियों के खिलाफ सरकार सख्त कार्रवाई करेगी

शिमला, 24 जून (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पत्रकारों से बातचीत में बताया कि केन्द्रीय मंत्री नितिन गडकरी के दौरे के दौरान भुंतर एयरपोर्ट के बाहर एसपी कुल्लू व सीएम के सुरक्षा अधिकारियों के बीच हुई मारपीट के मामले में सरकार ने तीन दिनों के अंदर मामले की रिपोर्ट मांगी गई है, जांच के बाद जो भी दोषी होगा उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। समूचे मामले में सीएम जय राम ठाकुर की भी खूब किरकिरी हो रही है। सोशल मिडिया में लोग उन पर भी सवाल उठा रहे हैं। चूंकि जिला में सुरक्षा बंदोबस्त का जिम्मा एसपी का ही होता है लेकिन कुल्लू में सीएम के सुरक्षा दस्ते ने अपने कार्यक्षेत्र से बाहर जाकर एसपी से अभद्रता की व मामले ने तूल पकड लिया।

इस बीच घटना पर पुलिस मुख्यालय के आदेश पर सेंट्रल रेंज मंडी के डीआईजी मधू सुदन ने जांच शुरू कर दी है। गडकरी के दौरे की वजह से डीआईजी भी कुल्लू में ही मौजूद थे। वहीं, मामले की गंभीरता को देखते हुए डीजीपी संजय कुंडू भी कुल्लू पहुंच गए हैं। समूचे विवाद के चलते कुल्लू के पुलिस अधीक्षक गौरव सिंह,सीएम सुरक्षा में तैनात एएसपी बृजेश सूद और सीएम के पीएसओ बलवंत सिंह को मामले की जांच पूरी होने तक अनिवार्य अवकाश पर भेज दिया गया है। एसपी कुल्लू का मुख्यालय रेंज आफिस मंडी जबकि बृजेश सूद और बलबंत सिंह का मुख्यालय पीएचक्यू शिमला निर्धारित किया गया है।

बताया ला रहा है कि सीएम सिक्योरिटी स्टाफ को निर्देश थे कि फोरलेन मामले को लेकर विरोध कर रहे लोगों को केंद्रीय मंत्री गडकरी के पास नहीं फटकने देना है। चाहे उनपर सख्ती करनी पड़े, ब्ड का सिक्योरिटी इंचार्ज इस बात को लेकर नाराज था कि लोग वहां पहुंच गए थे और गडकरी से बात भी कर रहे थे क्योंकि एसपी कुल्लू ने लोकतांत्रिक परम्परा अनुसार शांतिपूर्ण तरीके से अपनी बात करने आने वाली जनता पर कोई बल प्रयोग नहीं किया। मगर इस से चिढ़कर ब्ड का सिक्योरिटी इंचार्ज लगातार एसपी कुल्लू से अभद्रता कर रहा था और अपशब्द बोल रहा था। इसी वजह से मामले में तनातनी पैदा हो गई।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *