अभिषेक बनर्जी को थप्पड़ जड़ने वाले देबाशीष आचार्या की मौत, परिवार ने हत्या करार दिया ृ

कोलकाता, 18 जून (ऐजेंसी/सक्षम भारत)। पश्चिम बंगाल में साल 2015 में एक कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक बनर्जी को थप्पड़ जड़ने वाले देबाशीष आचार्या की मौत हो गई। भाजपा ने इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की है। बता दें कि भाजपा से जुड़े हुए देबाशीष आचार्या को गुरुवार को मिदनापुर के तमलुक जिला अस्पताल पहुंचाया गया। जहां पर उन्हें मृत घोषित कर दिया। इस मामले को देबाशीष आचार्या के परिवार ने हत्या करार दिया है।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक देबाशीष आचार्या पर गुरुवार को कुछ अज्ञात लोगों ने हमला किया था। जिसमें वो गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। जब उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया तो पता चल कि उनकी मौत हो गई है। आपको बता दें कि साल 2015 में देबाशीष आचार्या ने अभिषेक बनर्जी को एक कार्यक्रम में थप्पड़ जड़ा था। जिसके बाद मंच पर मौजूद अभिषेक बनर्जी के समर्थकों ने उन्हें बुरी तरह से पीटा था।

साल 2015 में देबाशीष आचार्या की पिटाई का वीडियो भी वायरल हुआ था। हालांकि अभिषेक बनर्जी की तरफ से बाद में कहा गया था कि उन्होंने देबाशीष आचार्या को माफ कर दिया है। लेकिन गुरुवार को देबाशीष आचार्या की रहस्यमयी ढंग से हुई मौत के बाद एक बार फिर से बंगाल की सियासत गर्मा गई है।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के बाद जारी राजनीतिक हिंसा को लेकर भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय ने गुरुवार को प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की मांग की थी। उन्होंने कहा था कि बंगाल में वर्तमान में जो कानून व्यवस्था कि स्थिति है मैं ये कह सकता हूं कि वहां राष्ट्रपति शासन लगना चाहिए। जो सरकार 213 सीटें लाकर डेढ़ महीने पहले जनमत जीती हो वहां राष्ट्रपति शासन लगाना प्रथमदृष्टया अभी उचित नहीं लगता लेकिन हालात ऐसे ही हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *